Words of Night – In Night & Pen

ऐसे तो कुछ कहीं बातें थी उस दिन, जैसे अनमने ढंग से टालने की कोशिश और मन समझ लेता दूर उठते हर तरंगों को !उस दिन पूछ ही लिया, की Read More …

जिन्दगी बसर जरुर हो जायेगी – Life Left To Go

उलझनों भरी राहें ऐसी..मंजिल से अनजान बन,जिन्दगी बसर जरुर हो जायेगी ! आदतन रात की गोद में सर रख,ज्यों ही कुछ सोचते,और सुबह हो जाती,ये बड़ी वक़्त पाबंद घढ़ीयाँ,कुछ रुक Read More …

एक सुबह कुछ ऐसे .. ! Bird, Butterfly & Morning

चाँद की पंखुरियाँ सिमट गयी,हरी पत्तियां और कोपले,निकले अपने खोले आँखे,देखो छोटे छोटे चिड़यों के बच्चे,उनके कलरव तुझसे ही मिलते है,आके जरा देखो तो उन्हें,जो आ गयी है तेरी मुंडेरों Read More …

इक ख्वाब था…!

शाम अधूरी, अधखुली नींद से..इक ख्वाब था वो, अधूरा सा छुटा ! मन विस्मृत, एक डगर को चला,दूर कदम पर, एक भीढ़ सी टोली ! हाट कोई था, फल सब्जी Read More …

फीकी हँसी …. Little Laugh

मैं रात की बात लिये, शब्दों को पिरोने .. सहसा खामोशी में घिरा देखा खुद का चेहरा,मैंने देखा खुशियों पर मायूसी का लगता पहरा ! बात बदल कर मन को Read More …

□■ लम्हें ■□

जिंदगी ऐसी .. उम्रदराज हो रही लम्हों के मेहमां बनके,आरजू बिखरे लम्हों को कुछ पल फिर जी जाने की,कसक रुकसत कर उन लम्हों को कहीं छोड़ आने की ! फिर कभी Read More …