My Voice Thoughts

लोकतंत्र के जंगल – Random Thought

लोकतंत्र के जंगल मे शेर की खाल पहन भेड़ियों का शासन है… यहाँ हर तरफ अराजकता ही अराजकता है मजदूर, छात्र, किसान, नौकरीपेशा, उद्यमी सब 70 साल से मूर्खों की मंडली की ओर आस टिकाये कब तक इस राजनैतिक दासता में रहेंगें, सड़क के गड्ढे से ले बैंक का ब्याज, आपके बच्चे के पेपर से […]

Bihar exam
My Voice Thoughts

बिहार में परीक्षाकाल …..

आजकल परीक्षाकाल चल रहा हमारे राज्य में, कदाचार मुक्त परीक्षा हो पूरा प्रशासन लगा हुआ है । पुलिस, मजिस्ट्रेट, सीसीटीवी, वीडियोग्राफी, जाँच पड़ताल । ऑब्जेक्टिव सब्जेक्टिव OMR बिंदा गोला टिक टाक रोल कोड रोल नम्बर सब्जेक्ट कोड कुल मिला के विद्यार्थी पूरे दवाब में । परीक्षा को बस दवाब से कदाचार मुक्त कर शिक्षा में […]

My Voice Thoughts

भीड़ और मौत के सन्नाटे के बीच ..

एक सविंधान के  रक्षक को भीड़ इसलिए मार देती की वो अपने कर्तव्य को निभा रहा था, भीड़ और मौत के सन्नाटे के बीच न कुछ सवाल है न जवाब , न पक्ष है न विपक्ष बस है तो मौत का सन्नाटा ! कौन है हत्यारा ये समाज जिसके मन में विष ही विष है नफरत का […]

Up election poem sattire
My Voice Poetry Thoughts

यूपी का चुनाव-प्रचार

जनता की सेवा के लिए हो गया, पिता पुत्र में भी तकरार, ये है यूपी का चुनाव-प्रचार ! इधर के उधर गए, और उधर के नजाने किधर गए, मिल बैठे सब नदियों जैसे, धूल गए पुराने कर्म और विचार, ये है यूपी का चुनाव-प्रचार ! घी-तेल सब चुपड़े खायेंगे, अब कोई क्यों करे व्यापार, माटी […]

social media troll
My Voice Thoughts

बातें गाली गलौज की …..

सोशल मीडिया और गाली गलौज …. बहुत अच्छा प्रश्न है ; व्यापक है ; समस्या है ! लेकिन रोज एक ही बात बोलना की गाली गलौज हो रहा , ये कौन लोग है , वो कौन लोग है ! बीजेपी कांग्रेस व्हाट्सप्प फेसबुक तू तू मैं मैं ! आखिर कब तक यही जुमला फेंकते रहेंगे […]

My Voice Thoughts

#ThankYouSachin

देखते होंगे क्रिकेट पहले भी लोग, लेकिन साँसें रोक के, चाय की दुकान पर, मन में भगवान को याद करके, दोस्तों के कंधे पर हाथ रख के, पिताजी के साथ सोफे पर बैठ करके, टीवी की दुकान के बाहर भीड़ में शामिल हो, हॉस्टल में टीवी का जुगाड़ करके, बिजली कटने पर बेशर्म हो पड़ोसी […]