उच्च शिक्षा में तकनीक का समावेश …

21वी सदी में तकनीक हमारे जीवन के हर पहलु में व्याप्त है, शिक्षा जगत भी तकनीक के अनुप्रयोगों से अछूता नहीं रहा | नामांकन से लेकर परीक्षा परिणाम तक मोबाइल और कंप्यूटर पर सेकंडों में उपलब्ध है | उच्च शिक्षा को उन्नत बनाने के लिए तकनीक आधारित अनेकों प्रयास होते आ रहे है  | संस्थानों, शिक्षकों और छात्रों के बीच तकनीक ने एक कैसी कड़ी स्थापित की है जिससे भौगोलिक दूरियों से परे शिक्षा सर्वत्र सुलभ और सरल माध्यम से उपलब्ध हो रही है | तकनीक के अनवरत विकास क्रम में वर्तमान में उच्च शिक्षा में अनेकों उपयोगी संसाधन मानव संसाधन विकास मंत्रालय, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग और अन्य संस्थानों द्वारा उपलब्ध कराया जा रहा है जो तकनीक के माध्यम से उच्च शिक्षा को नये आयाम देते है | कुछ महत्वपूर्ण तकनीक इस प्रकार है :-

 

  • ICT : सूचना एवं संचार तकनीक के प्रयोग से शिक्षा प्रदान करना, जिससे शिक्षण पद्धति अत्यधिक प्रभावी, उपयुक्त और आधुनिक हो जाती है | ICT आधारित शिक्षण पद्धति में विभिन्न उपकरण जैसे कंप्यूटर, प्रोजेक्टर, टेबलेट, ऑडियो-विडियो संयत्र, इ-लाइब्रेरी, ऑनलाइन टूल्स इत्यादि उपयोग होते है |     
  • Digital Library : डिजिटल लाइब्रेरी पठन पाठन के लिए शिक्षा सामग्रियों को डिजिटल प्रारूप में संरक्षित कर सुलभ रूप से शिक्षकों एवं छात्रों को उपलब्ध करा रही है उदा० Nation Digital Library of India | Shodhganga – पुरे भारत के विश्वविद्यालयों के शोधार्थी द्वारा जमा थीसिस को संरक्षित रखता है | e-ShodhSindhu – इ-जर्नल और इ-बुक का विशाल संग्रह जिससे शिक्षक / छात्र लाभान्वित हो सकते है |  e-Granthalaya विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों के पुस्तकालय को ऑनलाइन जोडती है, साथ ही साथ लाइब्रेरी मैनेजमेंट का भी कार्य करती है | 
  • NAD : UGC द्वारा संचालित इस पोर्टल में छात्र अपने समस्त शैक्षणिक दस्तावेजों को जैसे – डिग्री, सर्टिफिकेट, मार्क्सशीट को ऑनलाइन सुरक्षित रख सकता और जरुरत पड़ने पर इसे प्राप्त कर सकता है | लिंकnad.gov.in

 

    1. SWAYAM Courses : भारत सरकार द्वारा संचालित इस पोर्टल में कक्षा 9 से लेके PG स्तर के ऑनलाइन कोर्सेज उपलब्ध है, जिन्हें छात्र/शिक्षक सुविधानुसार ऑनलाइन पढ़ सकते | U.G.C के क्रेडिट फ्रेमवर्क के तहत भी SWAYAM के कोर्स स्वीकृत है |  लिंक – swayam.gov.in
    2. Swayamprabha Channel : MHRD एवं U.G.C के द्वारा संचालित 32 फ्री टू एयर चैनल के माध्यम से शिक्षण सामग्री को विभिन्न समय सारणी के अनुसार प्रसारण हो रहा है | स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर के शिक्षण सामग्री को देश के विभिन्न संस्थानों के विद्वान शिक्षकों ने तैयार किया है |  

 

  • Online Tools & Social Media : शिक्षकों एवं छात्रों के लिए ऑनलाइन इन्टरनेट और सोशल मीडिया भी काफी मददगार है | नोट्स शिक्षण सामग्री आदान प्रदान व संरक्षित करने लिए Dropbox, Evernote व् गूगल ड्राइव का उपयोग कर सकते, प्रजेंटेशन के लिए Slideshare, Scribd इत्यादि जगहों से सामग्री को प्राप्त कर सकते, Youtube पर अथाह विडियो शिक्षण सामग्री है, टाइम मैनेजमेंट के लिए Trello, Wunderlist, Google Keep इत्यादि का इस्तेमाल कर सकते, Linkedin पर प्रोफेशनल नेटवर्किंग कर देश-विदेश के अनेकों लोगों से सूचना का आदान प्रदान कर शिक्षक अपने पोर्टफोलियो का प्रदर्शन कर सकते एवं छात्रों के कैरियर के लिए ये बहुत उपयोगी प्लेटफार्म है |   

 

तकनीक के नव अन्वेषणों को सभी शिक्षण संस्थानों, शिक्षकों, छात्रों को उपयोग में लाना चाहिए जिससे ज्ञानर्जन में रचनात्मकता आ सके |   

( सुजीत कुमार लक्की ) 

 

Post Author: Sujit Kumar Lucky

Sujit Kumar Lucky - मेरी जन्मभूमी पतीत पावनी गंगा के पावन कछार पर अवश्थित शहर भागलपुर(बिहार ) .. अंग प्रदेश की भागीरथी से कालिंदी तट तक के सफर के बाद वर्तमान कर्मभूमि भागलपुर बिहार ! पेशे से डिजिटल मार्केटिंग प्रोफेशनल.. अपने विचारों में खोया रहने वाला एक सीधा संवेदनशील व्यक्ति हूँ. बस बहुरंगी जिन्दगी की कुछ रंगों को समेटे टूटे फूटे शब्दों में लिखता हूँ . "यादें ही यादें जुड़ती जा रही, हर रोज एक नया जिन्दगी का फलसफा, पीछे देखा तो एक कारवां सा बन गया ! : - सुजीत भारद्वाज