rain emotion story
Stories

संवेदना ….

बारिश .. छोटा शहर तो तंग हो जाता रोज रोज के इन छीटों से ; हर सड़क हर गलियाँ सनी हुई सी, ऊँघती हुई पुरानी बिल्डिंगें टूटे टूटे दरारों में बारिश की बूंदों ने अपना रस्ता बना लिया था ! बच्चे मायूस हो खिड़की से गुम होते शाम को देखते जा रहे ; आज भी […]

Stories

एन इवनिंग इन मेट्रो – मेट्रोनामा !!

इक ऐसी ही शाम रोजमर्रा की .. नियत समय से मेट्रो में अपने गंतव्य की ओर जाने को आतुर और दुनिया भर की बातों की धुनी जमाए अपने कार्यस्थल के मित्रों के साथ .. निशांत, आदर्श, दिनेश !ऐसे ही कुछ पड़ाव पार करने पर फोन की ट्रिन ट्रिन; बातचीत में विराम सा लगाती; राज का […]

Stories

एक छोटी सी ख्वाबों की कहानी – Story By SK

ऐसे ख्वाब का क्या भरोसा, नींद में क्या आते जाते टूटते रहते ! ऐसी ही एक नींद भरी रात थी, आज किन यादों को नींद को लेके नींद आयी थी ! ख्वाबों की रातों की एक छोटी कहानी में चंद किरदार है; चंद यादें है ! कल्पनाओं के समन्दरों की गहराई क्या होंगी .. ऐसी […]