थोड़ी जिंदगी…

किसी नास्तिक को जबमिल जाता होगा ईश्वरकैसे पुराने कठोर सेवहम को बिखेरता हुआमन में कैसी संवेदना होगीवैसी अनभूति सी हुईजब बेजार से जहन कोछू गए तुम्हारे शब्दएकाकी से खोये हुएजीवन …

थोड़ी जिंदगी… Read More
silence chaos hindi poem

खामोशी ….

कभी कभी खामोशी में भरते हुएयादों के चेहरे बुनते जाना,कभी कभी लंबी सी भागदौड़के बाद चुपचाप बिना बोलेसन्नाटे में खोजना खुद कोदेर तक कहीं बैठे रहनाया ऊंघना कुछ कुछ देर …

खामोशी …. Read More

तुम्हारा लौटना

कुछ दिनों के खामोशी के बादतुम्हारा लौटना ऐसे है जैसेतपते हुए किसी महीने के बादलौटता हो बारिश का मौसमउमड़ते हुए मेघों से भरा आसमांफुहारों से भींगे हुए सब रास्तेधुली हुई …

तुम्हारा लौटना Read More

चाँद – @ Winter Night

ठंड से ठिठुरता चाँद …शीत में भींगता गुनगुनाता चाँद,न कोई अलाव है न कोई तपिश ।न कोई गुफ्तगू न कोई खबर पूछता,किससे रात भर बातें करता होगा चाँद ?चुपचाप देखता …

चाँद – @ Winter Night Read More

भ्रष्टाचार के पुल

भ्रष्टाचार के पुलआशंकित से खड़ेनहीं होते है खड़े फौलादी सीने सेहिलते है पानी के थपेड़ों सेथरथराते है गुजरते हुए भारी वाहनों से | पुल के बनाने वाला कभी पुल के …

भ्रष्टाचार के पुल Read More