fbpx

छत यात्रा -#lockdowndays

छत यात्रा #lockdowndays #mobilephotography विस्तृत गंगा कछार का भूभाग, शहर का कंक्रीट जंगल खत्म हो मिल जाती है प्रकृति से जहाँ, अतुल्य भारत के मक्का गेँहू से झूमते खेत । एक ओर विश्वविद्यालय परिसर का रवींद्र भवन भागलपुर प्रवास के दौरान रविन्द्र नाथ टैगोर रविन्द्र भवन में रूके थे और गीतांजलि के कुछ पन्ने यहीं […]

dads diary

लुका-छुपी ….

बचपन का एक कौतुहल जो हर बच्चा अपने माँ के आँचल में सीखता, चेहरा छुपाना, फिर शरारत भरी नजरों से देखना की सब उसको देख रहे या नहीं, कभी कभी जब चेहरे से आँचल को नहीं हटा पाता उलझ जाता तो अपने गुस्से को जाहिर करना कि कोई उसकी मदद करें, बच्चों के इस लुका […]

Sillhoutes Of Life …..

जीवन के श्वेत श्याम पट्ट पर, कुछ तस्वीर आ उभरे है ; गोद में कोई कौतुहल से, अटखेलियाँ करता ; देखता दीवारों पर बनती परछाइयों को, हिलती डुलती आभायें , जब साथ साथ आती है, अनेकों रंग भर देती जीवन में । #SK #Sillhoute Of Life…

New Year New Me 2018

नया वर्ष है नया सवेरा ..

नया साल जैसे आपको ये महसूस होता की चलो एक पुराना लम्हा था खत्म हुआ ; अब एक नई उम्मीद है पुराने साल की कुछ अनचाही चीजें लगती इस साल ठीक हो जाएगी ! एक पूरा नया सजा सजाया बिना परेशानियों का सब कुछ बदल देने वाला एक नया वर्ष जैसे सामने हो और मन […]

Rafi

Rafi – Tribute to Musical Legend

Rafi’s (24 December 1924 – 31 July 1980)  रफ़ी साहब ने हजारों गानों को अपनी आवाज दी – प्यार, मोहब्बत, दोस्ती, जिंदगी, मौत, गम, दिल, उदासी, बेबसी, धोखा, देशभक्ति अनेकों रंगों को आप अगर संगीत के माध्यम से महसूस करना चाहते तो रफ़ी साहब को सुनिए ! एक से एक दिल को छू लेने वाले […]

Dad Diary

Dad’s Diary – 1

कहते है बच्चा जब सोया रहता और हँसता तो वो भगवान से बात करता , भगवान बच्चे को हँसाते दुलारते ! बच्चा जब तक अबोध रहता वो इस दुनिया के अलावा किसी और दुनिया से संवाद में भी रहता है और धीरे धीरे उसका जब ये सम्पर्क खत्म होता वो इस दुनिया के जीवन चक्र […]