Atal Bihari Vajpayee
Thoughts

अटल जी राजनीति की आपाधापी से दूर …

राजनेताओं में अटल जी एक है जिनको देख कर सुनकर राजनीति को देखने समझने में दिलचस्पी बढ़ी ! चुनाव प्रचार में उनको करीब से देखने और सुनने का अवसर प्राप्त हुआ, उनकी वाक्पटुता और संवेदनशील भाषाशैली ने बहुत प्रभाव डाला मन पर ! कवि के रूप में , एक राजनेता के रूप में मेरे पसंदीदा […]

Dad Diary
Life Events Random Thoughts Thoughts

Dad’s Diary – 1

कहते है बच्चा जब सोया रहता और हँसता तो वो भगवान से बात करता , भगवान बच्चे को हँसाते दुलारते ! बच्चा जब तक अबोध रहता वो इस दुनिया के अलावा किसी और दुनिया से संवाद में भी रहता है और धीरे धीरे उसका जब ये सम्पर्क खत्म होता वो इस दुनिया के जीवन चक्र […]

Newton movie review hindi
Thoughts Videos & Cinema

सब न्यूटन है यहाँ ; नहीं है तो बनिए न्यूटन ( Newton Movie Review )

जब हम बात करते की हिंदी सिनेमा में कुछ अच्छा नहीं है देखने को, तब ऐसे में न्यूटन जैसी चलचित्र आती और लम्बे समय तक आपके दिलो दिमाग पर छाप छोड़ जाती | Movie : Newton ( 2017) Director: Amit Masurkar Writers: Amit Masurkar (screenplay), Mayank Tewari (screenplay) Stars: Rajkummar Rao, Pankaj Tripathi, Anjali Patil […]

My Voice Thoughts

भीड़ और मौत के सन्नाटे के बीच ..

एक सविंधान के  रक्षक को भीड़ इसलिए मार देती की वो अपने कर्तव्य को निभा रहा था, भीड़ और मौत के सन्नाटे के बीच न कुछ सवाल है न जवाब , न पक्ष है न विपक्ष बस है तो मौत का सन्नाटा ! कौन है हत्यारा ये समाज जिसके मन में विष ही विष है नफरत का […]

Up election poem sattire
My Voice Poetry Thoughts

यूपी का चुनाव-प्रचार

जनता की सेवा के लिए हो गया, पिता पुत्र में भी तकरार, ये है यूपी का चुनाव-प्रचार ! इधर के उधर गए, और उधर के नजाने किधर गए, मिल बैठे सब नदियों जैसे, धूल गए पुराने कर्म और विचार, ये है यूपी का चुनाव-प्रचार ! घी-तेल सब चुपड़े खायेंगे, अब कोई क्यों करे व्यापार, माटी […]

Autumn Days Thoughts
Random Thoughts Thoughts

किसे न इश्क़ हो इस मौसम से ? #AutumnDays

Autumn marks the transition from summer into Winter ….. किसे न इश्क़ हो इस मौसम से ? ढलती रात अभी की, जैसे हवायें खुले खुले बदन से टकराकर अटखेली करती प्रेमिका सी लिपटती ; दूधिया रोशनी में नहायी सड़के और आसमां की खूबसूरती जैसे गुलज़ार की नज्म, उस नज्म से जैसे चाँद आसमां से उतरकर […]