Random Thoughts Thoughts

संजय उवाच – भारत बंद !

धृतराष्ट्र संजय से – क्या हो रहा हस्तिनापुर में ; महाराज बुलेट ट्रेन की चाह रखने वाले ; पटरी उखाड़ ले गए । आज भारतवर्ष बंद था तो महाभारत का डेमो सड़क पर प्रदर्शित किया गया , लोकतंत्र की रक्षा के लिए गाड़ी जलाए गए, संविधान बनाने वाले के नाम का नारा लगाके खूब संविधान […]

My Voice Thoughts

लोकतंत्र के जंगल – Random Thought

लोकतंत्र के जंगल मे शेर की खाल पहन भेड़ियों का शासन है… यहाँ हर तरफ अराजकता ही अराजकता है मजदूर, छात्र, किसान, नौकरीपेशा, उद्यमी सब 70 साल से मूर्खों की मंडली की ओर आस टिकाये कब तक इस राजनैतिक दासता में रहेंगें, सड़क के गड्ढे से ले बैंक का ब्याज, आपके बच्चे के पेपर से […]

Night & Pen Poetry

In Search of Orion …

कभी कभी छत की ऊपरी मंजिल पर जाता हूँ, नितांत रात में निहारने आकाश को, इस भागदौड़ में भूल जाता हूँ प्रकृति के इस अजूबे को बचपन से जो नहीं बदला अब तक मैं ढूंढ लेता हूँ डमरू जैसे ओरियन को । जब मास्टर जी ने बताया था तुम्हारे बारे में, बचपन में उस दिन […]

Bihar exam
My Voice Thoughts

बिहार में परीक्षाकाल …..

आजकल परीक्षाकाल चल रहा हमारे राज्य में, कदाचार मुक्त परीक्षा हो पूरा प्रशासन लगा हुआ है । पुलिस, मजिस्ट्रेट, सीसीटीवी, वीडियोग्राफी, जाँच पड़ताल । ऑब्जेक्टिव सब्जेक्टिव OMR बिंदा गोला टिक टाक रोल कोड रोल नम्बर सब्जेक्ट कोड कुल मिला के विद्यार्थी पूरे दवाब में । परीक्षा को बस दवाब से कदाचार मुक्त कर शिक्षा में […]

Atal Bihari Vajpayee
Thoughts

अटल जी राजनीति की आपाधापी से दूर …

राजनेताओं में अटल जी एक है जिनको देख कर सुनकर राजनीति को देखने समझने में दिलचस्पी बढ़ी ! चुनाव प्रचार में उनको करीब से देखने और सुनने का अवसर प्राप्त हुआ, उनकी वाक्पटुता और संवेदनशील भाषाशैली ने बहुत प्रभाव डाला मन पर ! कवि के रूप में , एक राजनेता के रूप में मेरे पसंदीदा […]

Dad Diary
Life Events Random Thoughts Thoughts

Dad’s Diary – 1

कहते है बच्चा जब सोया रहता और हँसता तो वो भगवान से बात करता , भगवान बच्चे को हँसाते दुलारते ! बच्चा जब तक अबोध रहता वो इस दुनिया के अलावा किसी और दुनिया से संवाद में भी रहता है और धीरे धीरे उसका जब ये सम्पर्क खत्म होता वो इस दुनिया के जीवन चक्र […]