Love Two Liners Poetry By Sujit

इश्क़ – 4

इश्क़ के कुछ रंग ऐसे भी .. इस आदतन ख़ामोशी की वजह इतनी है, तुझे कुछ कहके दिल अपना दुखा लेता । #यूँही #Ishq बस चिट्ठियों को मिले मुक्कमल पता, …

Read More
Love Two Liners Poetry By Sujit

इश्क़ – 3

इश्क़ के कुछ रंग ऐसे भी .. रूठ के कुछ दूर है जाता, जो इश्क़ न होता तो, वो न लौट के आता ! #इश्क़ उसे मनाना नहीं आता, मुझे मनाने …

Read More
Love Two Liners Poetry By Sujit

इश्क़ – 2

इश्क़ के कुछ रंग ऐसे भी .. आओ रूठे से चेहरे को मनायें, इश्क़ है तो वो गिला भी करेगा । #इश्क़ इश्क़ आँखों से कैसे छलके, पेशानी पर शिकन की …

Read More
Love Two Liners Poetry By Sujit

इश्क़ – 1

इश्क़ के कुछ रंग ऐसे भी .. वो सुई धागों में उलझी उलझी कहीं, कुछ नए रिश्तों में टाँके लगा रही थी !! #इश्क़ पायलों को नहीं है तहजीब का …

Read More