Dad Diary
Life Events Random Thoughts Thoughts

Dad’s Diary – 1

कहते है बच्चा जब सोया रहता और हँसता तो वो भगवान से बात करता , भगवान बच्चे को हँसाते दुलारते ! बच्चा जब तक अबोध रहता वो इस दुनिया के अलावा किसी और दुनिया से संवाद में भी रहता है और धीरे धीरे उसका जब ये सम्पर्क खत्म होता वो इस दुनिया के जीवन चक्र […]

vartalaap hindi poem
Poetry

वार्तालाप ….

वार्तालाप बस दिनचर्या की तरह, जैसे अधूरी ख्वाहिशों की सेज हो, कोई समझौते की बंदिश है इसपर, या शब्दविहीन तल्खी हो कोई अंदर ! रोज खिड़की से दिखती सुबह, और झुरमुटों में डूब जाती शाम, बिना कुछ बातों के कैद सी है अनकहे बातों की लम्बी दास्तान ! वार्तालाप विहीन बीतते दिनों को, इंतजार है […]

Life Obstacles Poem
Poetry

जीवन संघर्ष से कैसा डर …

नियति पर नियंत्रण नहीं, परिस्थितियों का मौन आवरण, क्यों मन तू होता आकुल ? व्यर्थ के चिंता से व्याकुल ! तू पार्थ सा संग्राम में, नियति को दे आमंत्रण, चुनौती को दे निमंत्रण, विपरीत समय पर प्रतीक्षा कर, मिथक तोड़ तू आगे बढ़, मनुज तो ऐसा चिंतन कर, आशंका से अब तू निकल, जीवन संघर्ष […]

come back love
Poetry

तुम आओ लौट के …

तुम आओ लौट के, देखो सिलवटें बिछावन की, वैसी ही है अब भी । बिखरे बिखरे से पड़े है, सारे सामान मेरे तुम्हारे । देखो हरतरफ हरजगह की, सब चीजेँ मुँह ताकती सी । सुने परे सारे गलियारें, कान लगाए है दीवारों पर, पायलों की छन की ताक में । हर वो बिंदी वहीँ है […]

Newton movie review hindi
Thoughts Videos & Cinema

सब न्यूटन है यहाँ ; नहीं है तो बनिए न्यूटन ( Newton Movie Review )

जब हम बात करते की हिंदी सिनेमा में कुछ अच्छा नहीं है देखने को, तब ऐसे में न्यूटन जैसी चलचित्र आती और लम्बे समय तक आपके दिलो दिमाग पर छाप छोड़ जाती | Movie : Newton ( 2017) Director: Amit Masurkar Writers: Amit Masurkar (screenplay), Mayank Tewari (screenplay) Stars: Rajkummar Rao, Pankaj Tripathi, Anjali Patil […]

morning and night poem
Poetry

रात और सुबह

रात अकेली है रो लो, गिरा लो आँसू कोरो से, बस सुबह जब निकलों, इस तरह की बनावट ले निकलना, चेहरों पर ; न शिकन ही रहे कोई न बचे कोई निशां चेहरे पर बीती रात के ग़मों की ; क्योंकि …. ये सुबह अकेला नहीं भीड़ है यहाँ, और इस भीड़ के कंधे नहीं […]