New Year
Random Thoughts Thoughts

2016 – नये वर्ष का सफरनामा ….

ये जिंदगी का सफर है जो उम्मीदों से भरा ; सफर में पड़ाव है, सफर में मिलने वाले साथी है, कुछ छूटने वाले साथी है, उनकी यादें है लेकिन सफरनामा कब रुकता है ! गुजरे हुए मुकाम नहीं आते लौट के लेकिन हमेशा यादों की एक सौगात है जो साथ रहता ! ऐसे ही साल […]

happy birthday inbox love
Random Thoughts Thoughts

हैप्पी बर्थडे – इनबॉक्स लव ~ 14

तुमने ही शुरू किया था ये सब ! तुम्हारा वो जीटॉक स्टेटस .. “हैप्पी बर्थडे टू माय स्पेशल फ्रेंड 🙂 :D” दो तीन स्माइली के साथ खूबसूरत सा वो मैसेज ! उस दिन तुमने स्पेशल बना दिया था , पुरे दिन तुमने अपने चैट स्टेटस में यही तो लिख रखा था ! मेरे लिये तो […]

Atal Bihari Vajpayee
Poetry

अटल बिहारी वाजपेयी – राजनीति की आपाधापी से दूर …

अटल जी का व्यक्तित्व प्रखर रहा है ; जब वो सक्रिय राजनीति में थे उनको राजनैतिक सभाओं में सुनने का अवसर मिला था ; शांत चित्त संवेदनशील, बेबाक वक्ता, एक कवि ! उनकों सुनना हमेशा से प्रेरणादायक रहा ! राजनीति में अनुशासन और गरिमामय आचरण के वो हमेशा प्रतीक रहे हैं ! उनके संवेदना के […]

naughty childhood poem
Poetry

अब तेरी शैतानियाँ बढ़ गयी है …

घर में कोई छोटा जब शैतानियाँ करता बचपन याद आ जाता, एक कविता इसी बचपन और उसके कौतुहल के इर्द गिर्द !! अब तेरी शैतानियाँ बढ़ गयी है ; लिपटना झपटना सब सीख़ लिया ; घुटनों पर चल सब कोने तुमने देख लिए घर के ; फर्श के सारे समान अब ऊपर सरका दिए है […]

inbox love in December
Random Thoughts Thoughts

Love in December – इनबॉक्स लव ~13

दिसम्बर, धुंध, सिमटी रातें … दिसम्बर की कुछ यादें ! जल्दी जल्दी शाम का ढल जाना ; हाँ हर बदलता मौसम यादों को भी तो बदल देता ; ये शीत में धुलती रातें, सुने से सड़कों पर धुंधली पड़ती रौशनी ! किसी साल से इसी मौसम की कुछ बातें याद है ? जैसे खुद से […]

Birds - Ignorance emotional poem
Poetry

उपेक्षा ….

स्नेह, उपेक्षा, मायूसी, विक्षोभ के इर्द-गिर्द घुमती एक कविता !!! उपेक्षा कल्पित चित्र था सुबह का , दो पंछी रोज आते थे , बरामदे पर आके चहलकदमी करते, तेरी आवाज से वाकिफ थे दोनों, वहीँ गमले के इर्द गिर्द खेला करते, कुछ दाने तेरे हाथों से लेके, उड़ जाते थे खुले आसमां में ! आज […]