Random Thoughts Thoughts

संजय उवाच – भारत बंद !

धृतराष्ट्र संजय से – क्या हो रहा हस्तिनापुर में ; महाराज बुलेट ट्रेन की चाह रखने वाले ; पटरी उखाड़ ले गए ।

आज भारतवर्ष बंद था तो महाभारत का डेमो सड़क पर प्रदर्शित किया गया , लोकतंत्र की रक्षा के लिए गाड़ी जलाए गए, संविधान बनाने वाले के नाम का नारा लगाके खूब संविधान की धज्जी उड़ायी गयी महाराज ।

धृतराष्ट्र – ये तो अधर्म है संजय ।

महाराज भूल गए सत्ता के लिए अपने पुत्रों द्वारा आयोजित उस रण को ..?

भारतवर्ष में चुनाव नजदीक है और चुनावकाल मे हर अधर्म धर्म माना जाता महाराज ।

बस संजय बस अपना विडियोकॉल बंद करो ।

धृतराष्ट्र मोबाइल बंद करके न्यूज़ चैनल देखने लगते ।

#जय भीम ।

 

Sujit Kumar Lucky
Sujit Kumar Lucky - मेरी जन्मभूमी पतीत पावनी गंगा के पावन कछार पर अवश्थित शहर भागलपुर(बिहार ) .. अंग प्रदेश की भागीरथी से कालिंदी तट तक के सफर के बाद वर्तमान कर्मभूमि भागलपुर बिहार ! पेशे से डिजिटल मार्केटिंग प्रोफेशनल.. अपने विचारों में खोया रहने वाला एक सीधा संवेदनशील व्यक्ति हूँ. बस बहुरंगी जिन्दगी की कुछ रंगों को समेटे टूटे फूटे शब्दों में लिखता हूँ . "यादें ही यादें जुड़ती जा रही, हर रोज एक नया जिन्दगी का फलसफा, पीछे देखा तो एक कारवां सा बन गया ! : - सुजीत भारद्वाज
http://www.sujitkumar.in/