Two_Liners From Sujit
Poetry Two Liners

#SK – Two Liners – II

लघु कविता क्षणिकाएँ है जो अनायास ही मष्तिष्क में आती लेकिन इनका जुड़ाव स्तिथि से, यादों से जरूर होता !

Yet Another Part of Two liners Hindi Poetry … #Sujit

किस तरह देखो घिर गयी घटा,
बदल गया है मौसम ;
जैसे बदल जाती है जिंदगी ;
कुछ सवालों के घिरने से !

#मौसम

लघु हिंदी कविता

अपने अपने उलझनों ने रास्ते अलग किये;
चलो एक एक इल्जाम दे सफर पर निकलते है !

#सफर

short hindi liners

 

Uncertainty is beautiful …

जो अनिश्चित है वो खूबसूरत भी है !

the beauty of uncertainty is that it motivates us to seek certainty !

Hindi Quote Motivation

झुरमुटों की ह्या में चाँद सिमट आई है ;
हवाओं की आँचल ओढ़े ये रात निकल आई है ।।

#Night 

Night Hindi Poem

खुरदरा सख्त सा हो गया है,
एकबार देखो तो,
सच में दिल ही तो है ?

#दिल

Dil Love Two Lines

Sujit Kumar Lucky
Sujit Kumar Lucky - मेरी जन्मभूमी पतीत पावनी गंगा के पावन कछार पर अवश्थित शहर भागलपुर(बिहार ) .. अंग प्रदेश की भागीरथी से कालिंदी तट तक के सफर के बाद वर्तमान कर्मभूमि भागलपुर बिहार ! पेशे से डिजिटल मार्केटिंग प्रोफेशनल.. अपने विचारों में खोया रहने वाला एक सीधा संवेदनशील व्यक्ति हूँ. बस बहुरंगी जिन्दगी की कुछ रंगों को समेटे टूटे फूटे शब्दों में लिखता हूँ . "यादें ही यादें जुड़ती जा रही, हर रोज एक नया जिन्दगी का फलसफा, पीछे देखा तो एक कारवां सा बन गया ! : - सुजीत भारद्वाज
http://www.sujitkumar.in/