Monthly Archives: March 2016

Night & Pen by Sujit

जिंदगी और किताब – Night & Pen

ऐसे ही बात शुरू हुई जिंदगी और किताब की …

सब कुछ कहीं न कहीं सोचा गया होगा, या कोई किताब होगी जिन्दगी की किताब जिसमें लिखा होगा कौन किसके जिन्दगी में कितना अपना किरदार निभाएगा और कैसा किरदार !
ये वक़्त, बातें, सब के अपने पन्ने होते होगे ! पन्ने उलटते ही किसी का किरदार खत्म तो , किसी जिन्दगी के दुसरे पन्ने पर किसी दुसरे किरदार का अभिनय शुरू ! कभी कभी कुछ पन्ने लिखना चाहता हूँ दुबारा, कभी कभी किसी पन्ने की लिखावटों को मिटाना भी चाहता हूँ, जैसे वो कभी हिस्सा ही नहीं थे मेरी किताब का !

और ऐसे ही समय के थपेड़ों में जिन्दगी के किताब का हर पन्ना उलटते उलटते एक दिन अपने गंतव्य पर पँहुच के खत्म हो जाता !

इतना कहके मैं खामोश सा हो गया, जैसे बहुत कुछ कह चूका था अपनी जिन्दगी के कई किरदारों की कहानी … तुमने भी खामोश होक सुना और फिर पसरी ख़ामोशी को तुमने तोड़ते हुए कहा ….

सही ही कहा… और वो किताब सबके ही पास होती है अपनी अपनी किताब जिंदगी की; बस अंतर इतना है किसी बच्चों की तरह … कोई संभाल के सजा के रखता कोई मोड़ तोड़ के !
कोई रोज पढता और याद रखता कोई कभी कभी पढ़ता या कोई भूल भी जाता, कोई किसी पन्ने को कभी नहीं उलटता, छोड़ देता फिर कभी नहीं पढ़ता !

बस यही सब एक इंसान की किताब को दूसरे से अलग करता । बाकि देने वाले ने तो सबको एक सी ही दी है एक किताब कुछ पन्ने और आखिरी पन्ना !

रात और कलम के इस पन्ने में इतना ही !! – #SK

Two_Liners From Sujit

#SK – Two Liners – II

लघु कविता क्षणिकाएँ है जो अनायास ही मष्तिष्क में आती लेकिन इनका जुड़ाव स्तिथि से, यादों से जरूर होता !

Yet Another Part of Two liners Hindi Poetry … #Sujit

किस तरह देखो घिर गयी घटा,
बदल गया है मौसम ;
जैसे बदल जाती है जिंदगी ;
कुछ सवालों के घिरने से !

#मौसम

लघु हिंदी कविता

अपने अपने उलझनों ने रास्ते अलग किये;
चलो एक एक इल्जाम दे सफर पर निकलते है !

#सफर

short hindi liners

 

Uncertainty is beautiful …

जो अनिश्चित है वो खूबसूरत भी है !

the beauty of uncertainty is that it motivates us to seek certainty !

Hindi Quote Motivation

झुरमुटों की ह्या में चाँद सिमट आई है ;
हवाओं की आँचल ओढ़े ये रात निकल आई है ।।

#Night 

Night Hindi Poem

खुरदरा सख्त सा हो गया है,
एकबार देखो तो,
सच में दिल ही तो है ?

#दिल

Dil Love Two Lines

Two_Liners From Sujit

#SK – Two Liners – I

अब कोई नज़्म नहीं लिखूँगा तुमपर
देखों ये तुमने क्या कर दिया
तुम्हारी नज़्म सा ही हो गया हूँ !!
#‎Randomthoughts‬

‪#‎randomthoughts‬

वहम था उन चेहरों का हँसना,
यकीन यूँ ही नहीं उठता किसी से ।
‪#‎पागलदुनिया‬

‪#‎पागलदुनिया‬

कोई हर रोज, घंटों सामने बैठ के जाता,
ख़ामोशी मुझसे उसका ताल्लुक पूछती है ।
#‎पागलदुनिया‬


Two_Liners

नजाने कितने लम्हें बीते थे बेशक्ल को एक शक्ल देने में,
अब वो बेजुबान बिना चेहरे के फिर से बुत सा बन बैठा है ।

#‎पागलदुनिया‬

PagalDuniya

ढूँढ लो रकीब का चेहरा ;
आज यहाँ सबने ही नकाब खोले है ।
#‎पागलदुनिया‬

Insta Poetry

कहाँ जाये तुझे छोड़ के ए हमसफर ;
जब सब राहें एक सी तो,
क्यों हम गुमसुम हो चले !!
#SK

Short Poem Hindi

कभी कभी नफरत में भी जल जाओ ..
रिश्तों का झूठा लिबास तो खाक होगा !!

#NightPen … #SK

Image Poetry Hindi

इन रास्तों पर वक़्त के कई सितम से तराशा गया हूँ ;
ख़ामोशी इन्तेजार ये कुछ ठिकाने हुआ करते थे ।

#Random #Thoughts

लघु कविता

Two liners and short poems are instant random emotions comes in mind, Feel free to share in social media.

Thanks – #Sujit

hindi poem on holi color

तुम आते तो रंग चढ़ता थोड़ा ……

कुछ सादा फीका फाल्गुन था,
तुम आते तो रंग चढ़ता थोड़ा,
कुछ नीला पीला गालों पर,
बालों से कुछ रंग झरता तेरा !

ऐसे तो हरपल यादों में रंगता,
साथ तेरे संग मन रंगता थोड़ा,
ख़ामोशी में डूबा धुँधला सा चेहरा,
रंगीन लगता तेरा चेहरा सुनहरा !

हाथ सने वो रंगरेज़ जो था,
रंगता ही रहा ताउम्र एक चेहरा,
रंगो में बीता पूरा ये जीवन,
तुम आते तो रंग चढ़ता थोड़ा !

रंग देता आसमां, चाँद और तारे भी,
बस तुम आते तो रंग चढ़ता थोड़ा !

#SK

holi jo gi ra sa ra ra

जोगी रा सा रा रा …..

जोगी रा सा रा रा होली का रैप है, इसके बिना होली अधूरी है, इसके बदले स्वरुप में आप डीजे वाले बाबू को तरजीह दे सकते लेकिन इसका स्वरुप बरसों से चला आ रहा ! जोगी रा कौन है, क्या कहना चाहता …. सोचियेगा तो मालूम होगा ये हमारे बीच में बैठा ही जन समान्य है जो फाल्गुन के बहाने व्यंग्य के माध्यम से कड़ी और तीखी आलोचना करता है समाज की व्यवस्था की खुद की आप की, हाँ इसको वो हास्य में भीगो के आपके सामने रखता, जोगी रा आलोचक है, समीक्षक है, विचारक है तो जोगी रा बेपरवाह है मदमस्त है !

तो कुछ जोगी रा सा रा रा की तान इस होली पर !


जोगी जी
2G आया 3G आया,
आया 4G का कमाल,
टावर लगाना भूल गये,
मोबाइल हुआ बेहाल !
सा रा रा रा रा
जोगी रा सा रा रा
वाह भाई वाह बा खिलाडी बा.. !!

जोगी जी
व्हाट्सएप आया फेसबुक आया,
आया ट्विटर का बवाल,
चिट्ठी पतरी भूल गया,
कोई पूछे न केकरो हाल,
वाह भाई वाह बा खिलाडी बा..
हाय बोला हम्म बोला ,
बोला गुड नाईट प्रेम निशानी,
माय बाप को बिजी बोला,
ये कैसी रे जवानी,
सा रा रा रा रा
जोगी रा सा रा रा
वाह भाई वाह बा खिलाडी बा.. !!

जोगी जी
शासन बोले भाषण बोले,
देश है ये महान,
जाति धर्म पर खून बहाके,
नेता थूके पान !
जोगी रा सा रा रा
सा रा रा रा रा
वाह भाई वाह बा खिलाडी बा.. !!
—–

रंगो के इस पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं – सुजीत