My Voice Thoughts

सियासत ए राजधानी …

दिल्ली जहाँ सियासत कभी खत्म नहीं होती ! हर सुबह कई वादों की सौगात लेके आती ; तो शाम बिखरे वादों पर कहकहे लगाती ढल जाती ! राजनीती शास्त्र भी है शस्त्र भी उपयोगिता पर निर्भर है !! विरोध तो स्वरुप है चिंतन का ही ; और एक प्रगतिशील चिंतन के लिए आवश्यक है विरोध […]

path in dark life
Poetry

तमस में होता द्वार कहीं…

विरह वियोग संयोग है ; कुछ ऐसा ये तो रोग है ! मृग मारिचका सा क्षण है ; भ्रम टूटे बस ऐसा प्रयत्न है ! यतार्थ थे तो पास भी थे ; कृत्रिम पर अधिकार नहीं ! मन चंचल निष्प्राण हो गए ; जीते जी पाषाण हो गए ! आहट पर सुध नहीं होती ; […]

No Way back in life
Poetry

मंजिल नई बनाऊँगा !

अब मैं लौट के नहीं आऊंगा ; दृढ़ हूँ इस बार बढ़ता ही जाऊँगा ।। अनेकों बार हुए उपेक्षित मन को ; अब बहुत ही दुर कहीं ले जाऊँगा ।। गत वर्षों का कुछ गीत अधूरा ; अब उसको ना फिर दोहराऊँगा।। साथ संग कुछ बात रही अधूरी ; सबसे परे जीवन कहीं बिताऊँगा ।। […]

Photography

Visit to Home Town – (Photography)

Journey Begin …. चकरी … बैलून … 10 रूपये का मेला । वक़्त की रफ्तार बहुत तेज है । जिन्दगी भी तेज चली हो जैसे ….#memoirs   सुप्रभात …. एक नयी सुबह ।। अपना शहर !! गाँव से दुर्गा विसर्जन का एक दृश्य । सभी अलग अलग टोले से माँ के कलश को निकाल कर एक […]

Photography

@ 1 PM – Garden of Joy !! (Photography)

गिलहरी .. चुपके से पैरों के आसपास आके ; कौतुहल सी करती ।। छोटे छोटे हाथों में मूँगफली को भरती; थोड़ी आहट पर डरती हुई ; फिर चुपके से फिर पास आने सी लगती ; कभी कभी दिख जाती एक छोटी सी गिलहरी ।। #instashot #htc #sk Life is full of choices … #workplace #wall […]

Coin - Childhood
Photography

Coins – Random Click !

कोई गुल्लक नहीं ; बिखेर देना सिक्के ; ऐसे किसी जगह ; किसी खिलौने के ख्वाबों के खातिर ; तोड़ देना मिट्टी के लाल गुल्लक को ; बचपन में । कोई मेहमान हाथ में रख देता था एक रूपये का सिक्का ; और दौड़ के गुल्लक में डाल के ; हाथों में उठा महसूस करता […]