fbpx

फेरीवाले की आवाज .. लॉक – अनलॉक जिंदगी !

गली में आवाजें लगाता वो, माथे पर बड़ी सी टोकड़ी जैसे, सामानों का जखीरा उठा रखा हो । उसकी आवाज़ें कौतूहल से भरी, विवश करती खिड़की से झाँकने को, बच्चे भी ठिठोली करते पुनरावृति में । उम्मीद से भरी वो आवाज की कोई आये, आजकल कोई आता नहीं निकल कर, न उसको घेरकर बैठती मोहल्ले […]