Again Untold – Night & Pen

असमंजस में था मन,खुले आसमाँ को देख,आज उसकी चाहत थी,टूटे कोई तारा फिर … वो मांगे बैठे कुछ दुआयें !शिकायत नहीं किसी से है कोई,फकत खुद के फैसले, खुद से …

Read More