fbpx
Indian festival diwali

त्यौहारों का एकाकीपन

त्यौहारों का एकाकीपन – दीवाली ऐसे बड़े पर्व पर बड़े घर और सिमटते परिवार में लोग, पर्व के उल्लास को कम कर रहे । अधिकांश परिवारों में घर के कई सदस्यों का अपने मूल शहर से दूर रहना त्योहारों पर उनका न आ पाना मन को टिस देता है । बचपन से हर साल दीवाली […]

चलो अपने आँगन मे दिवाली मनाये इस बार !

चलो फिर दीप जलाये अपने आँगन मे इसबार, थोरे सुनी परी थी जो गलियां, उन्हें जगाए इस बार, धुल पर चुकी थी, दरख्तों पर उन्हें हटाये इस बार, चलो अपने आँगन मे दिवाली मनाये इस बार ! उमंगें थोरी धीमी जरुर पर गयी है, थमा के देखो किसी मायूस बचपन के हाथों मे फुलझरिया, भर […]

जब कभी दीवाली आती थी

तन कलरव मन हर्षित होता था , जब कभी दीवाली आती थी . दौर दौर के छत के मुंडेरों पर, दीप जलाना फूल सजाना हमे तो , बहुत ये भाती थी , जब कभी दीवाली आती थी . पटाखों फुल्झारियो की लंबी लिस्ट , मेरे गुल्लक से बहुत भारी थी , बस यही सोच कर […]