कभी हँसे जो मेरी हसरतों पर – Sachin Legend of India

कभी हँसे जो मेरी हसरतों पर ..
हमने उन्हें भी सलाम किया …
सब लोग कहते है मुझे खुदा सा , पर मेरी ये खता नही मेरे रब ..
तेरी ओर ये नजर रखी, और बस मैंने तो सपनो को अंजाम दिया ! !
रचना : सुजीत कुमार लक्की

2 thoughts on “कभी हँसे जो मेरी हसरतों पर – Sachin Legend of India

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *