कुछ बातें – Some More Words

तुमसे यूँ चुप सा बोलता हूँ मैं ;मेरी कहीं सारी यादें ना छलक जाये ! देखो मैंने छोर दिया किस्सा अधूरा आज;क्योंकि कल जो फिर तुम्हें आना होगा यहीं ! …

Read More