fbpx
evening & sunset poetry

शाम की व्याख्या …..

एक मित्र ने शाम की एक तस्वीर पर कुछ लिखने को कहा, कवि अनेकों नजरिये से परिभाषित कर सकता किसी चीज को, तो शाम की व्याख्या कुछ इस तरह … १. (कुछ शायरी के लहजे में ) एक मुक्कमल शाम की तलाश में, कितने बार डूबा है ये सूरज ! २. (प्रेम और विरह के […]