fbpx
ravan dahan - vijyadashmi

रावण जो तेरे अंदर बैठा है …

कागज़ों के रावण ही जलेंगे अब, एक रावण मन में भी तो बैठा है ! द्वेष नफरत खिली चेहरे पर, त्योहारों पर पहरा बैठा है ! सीख भजन की दब गयी कहीं, यहाँ गला फाड़ सब बैठा है ! एक राम विजय का पर्व मनाते; अब कई राम पराजित बैठा है ! मानवता को तू […]