eastern wind bihar poem
Poetry

ये पुरवा हवा..

ये पुरवा हवा.. काश इसे कैनवास पर उतारा जा सकता; शब्दों में बांधा जा सकता; या किसी संगीत में इसे समाया जा सकता; अपने संवेग से अल्हड़ बन ये बहता ; छत की मुंडेरों से टकराकर इठलाता ; चिड़ियों के संग संग उड़ता जाता ; पेड़ों के संग बाहें डाल झूल जाता ; नदी के […]

indian farmer life
Random Thoughts Thoughts

प्राइम टाइम – खेत खलिहान से (व्यंग्य)

खेती व्यवसाय नहीं है ; कैसे होगा मिट्टी वाला पैर से उ लक्ज़री पॉलिश वाला मार्बल खराब नहीं हो जायेगा ! ” भारत एक कृषि प्रधान देश है ” ; निबंध का पहला लाइन पहले भी आज भी ; परीक्षा में भी नंबर दिलाता किसान ; भारत एक कृषि प्रधान देश है; भाषण का पहला […]

Life Stopped Poetry
Poetry

थम गये हैं ..

थम गये हैं हम और तुम भी ; नहीं थमा ये वक़्त का पहिया ; चलता रहा दुर जाता रहा ; अब सफर के दो दिशाओं में ; मुमकिन न होगा मिलना ! पैगामों की आवाजाही भी बंद है, न ही अब खतों के पुर्जे उड़ा करते, हवायें मतवाली सी हो उठती तो, खिड़की की […]

Hindi Poem afternoon
Poetry

दोपहर

दोपहर पर कितना कुछ है लिखने के लिये ~ कुछ मित्रों ने कहा ये दोपहर इतना उपेक्षित क्यों ; तो एक कविता “दोपहर” पर कोशिश करिये ; एक दोपहर , शहर, स्त्री, एक गली, एक बेरोजगार, रोज दफ्तर जाता एक कामकाजी आदमी, एक पुराने घर में पुराना पंखा, क्या क्या कहता है ; कल्पना और […]

Videos & Cinema

Mr and Mrs 55 ( B&W Era ) सिनेमास्कोप से !

Mr and Mrs 55 ब्लैक एंड वाइट सिनेमा के दौर से गुरुदत्त की एक ऐसी ही सिनेमा से रूबरू कराते है आपको ! – Mr and Mrs 55 Cast: Madhubala, Guru Dutt, Lalita Pawar, Johnny Walker, Vinita Bhatt (Yasmin), Kumkum, Tun Tun, Cuckoo एक साधारण सी प्रेम कहानी १९५५ में ये सिनेमा आई थी ; […]

Village ice cream vendor
Poetry

बर्फ वाला

बचपन में गाँव में याद है – विनिमय प्रणाली से हम बर्फ के गोले, खिलौने खरीदते थे ! आज के बच्चे “चाइल्ड डेबिट कार्ड” से आइसक्रीम खरीद लेते या मोबाइल एप्प से भी शॉपिंग ! एक कविता गाँव की उस तस्वीर को शब्द में कैद करके रख देता हूँ ; शायद गुम होती उन बातों […]