जब शब्द खामोश हो – तस्वीरें बोलती : My Paintbrush & Art Collection

जब शब्दें खामोश हो जाती, तब तस्वीरें बोलती, इनमे छुपा होता एक मर्म, एक वक्त .. एक याद .. एक पुकार … एक खामोशी .. एक कला .. एक आत्मा Read More …

Reprise Something – Night & Pen

बहुत द्वंद और एक बोझ जैसे पर्वतों की श्रृंखला, और रेगिस्तान सी राह में दूर जाता एक राही; विस्तृत अथाह सी राह में कभी इतना पीछे रह जाता; की चलना Read More …

दूसरी नींद

कुछ टूटे हुए काँच खिड़कियों के, जैसे सर्द हवाओं ने रुख देखा उसमें ! आधे ऊँघे परे पेड़ कुछ दुरी पर, और साथ उसके आसरे अंदर खोये हुए, लिपटी चुपचाप Read More …

जिंदगी तु है .. जिंदगी ये है – Life ?

जितना तुझे समझता, उतना तू उलझ जाता ! हर कदम रुक तुझे मुड़ के देखता, तू उतना दूर चला जाता ! जितना मैं तुझे खुदा कहता, तू उतना ही रूठ Read More …

कुछ पूछा होता – Sometimes I feel ?

सहूलियत से हर दफा किस्सा छेरते, कभी कशमकश में हाल पूछा होता !किस कदर अब ना कोई हँसता है, बस सवाल की गहराहियों में दफ्न हो, क्या कुछ सोचता है Read More …